Language SMS [Hindi SMS]

Added 4 years ago

एक बार एक बुढ़िया मर गयी तो उसकी बेटी जोर-जोर से रोने लगी और बोली।
बेटी: "अम्मा कहाँ गयी तू, जहां ना धूप-ना छाँव, ना रोटी-ना सब्जी, ना बिजली ना पानी।
साथ में ही संता और बंता भी शोक मनाने गये हुए थे।
संता ने साथ में बैठे बंता को कोहनीमारी और बोला, "अबे देख बुढ़िया कहीं हमारे घर पे तो नहीं चली गयी?

I Like SMS - Like: 119 - SMS Length: 746 - Share
Tags: Hindi SMS
Added 4 years ago

स्टूडेण्ड के दिल से निकला दर्द का गाना
काली काली खाली रातोँ से होने लगी है
दोस्ती
खोया खोया इन किताबोँ मेँ
आता मुझे कुछ भी नहीँ
हर प्रोबलम ,हर काँनसैप्ट मै कैसे सहता हूँ
हर पल हर लम्हा मै खुद से ये कहता रहता हूँ
तुझे भुला दिया ओ तुझे भुला दिया
फिर क्यो तेरे सिलेबस ने मुझे रुला दिया..
मुझे रुला दिया ओ.

I Like SMS - Like: 112 - SMS Length: 779 - Share
Tags: Hindi SMS
Added 4 years ago

जुल्फों को फैला,कर जब कोई महबूबा,
किसी आशिक की, कब्र पर रोती है,
तब महसूस होता है कि,
मौत भी कितनी हसीं होती है.

I Like SMS - Like: 113 - SMS Length: 281 - Share
Tags: Hindi SMS
Added 4 years ago

आपकी यादें भी कमाल करती हैं,
जाने कैसे कैसे सवाल करती हैं.
एक पल भी तन्हा नही छोड़ती,
आपसे ज़्यादा ये हमारा ख्याल करती हैं.

I Like SMS - Like: 107 - SMS Length: 316 - Share
Tags: Hindi SMS
Added 4 years ago

अपना सुधार ही संसार की सबसे बङी सेवा है।
जिन्दगी के चार मंञ
1.समझदारी
2.ईमानदारी
3.बहादूरी
4.जिम्मेदारी
जिन्दगी के चार सुञ
1.व्यस्त रहो मस्त रहो
2.मिल बाँट कर खाओ
3.सलाह लो सम्मान दो
4.सुख बाँटो दुख बँटाओँ

I Like SMS - Like: 137 - SMS Length: 521 - Share
Tags: Hindi SMS
Previous 2 3 4 5 6 Next
Page(4/8)
Jump to Page

Language

Arrow_dark English SMS
Arrow_dark Hindi SMS
Arrow_dark All SMS